Tuesday, November 20, 2018
Plugin Install : Cart Icon need WooCommerce plugin to be installed.

swift 2 carhamari

इंंडियन मार्केट में अपनी हैचबैक के दम पर ऑटो सेक्टर(Auto Sector) पर राज करने वाली मारुति के नाम पर पहले इंडियन कार मार्केट(Indian Car Market) में टॉप कार सेल्स(Top Car Sales) लिस्ट में शामिल रहने का खिताब है । अब इस खिताब के साथ ही कंपनी की इस समॉल हैचबैक(Small Hatchback) के लिए एक खुशखबरी है कि इस कार तो जेपनीज मार्केट मे सुजुकि स्विफ्ट (Suzuki Swift)के नाम से जानी जाती है । वही की कार क्रेश टेस्टिंग(Car Crash Testing) में सुजुकी स्विफ्ट को हाल ही में जापान न्यू कार असेसमेंट प्रोग्राम (JNCAP) क्रैश टेस्ट में 5 रेटिंग(5 Rating) मिली है। बता दे कि सुजुकी की स्विफ्ट को मिली यह रेटिंग हाइएस्ट सेफ्टी रेटिंग है। इस क्रेश टेस्ट में कार ने 178.3 पॉइंट्स स्कोर किये हैं।

जापान न्यू कार असेसमेंट प्रोग्राम में मिली यह रेटिंग चार टेस्ट्स पर आधारित है। जो टेस्ट हुए हैं उनमे फुल रैप फ्रंटल कॉलिजन टेस्ट, ऑफसेट फ्रंटल कॉलिजन टेस्ट, साइड कॉलिजन टेस्ट और रियर-एंड कॉलिजन परफॉर्मेंस टेस्ट शामिल हैं। जिनमें यह कार सबसे सेफ ार के तौर पर सामने आई है।

Maruti Suzuki
Maruti Suzuki

इस असेसमेंट प्रोग्राम में सुजुकी की थर्ड जेनरेशन स्विफ्ट के हाइब्रिड आरएस वैरियंट को टेस्ट किया गया था। ड्राइवर की सेफ्टी के लिए 78.87 पॉइंट्स मिले, जबकि यात्रियों की सुरक्षा के लिए 78.87 पॉइंट्स मिके, इसके आलावा पैसेंजर सीटबेल्ट रिमाइंडर के लिए 4 पॉइंट्स दिए गये। जिसके तहत कुल मिलाकर 178.3 पाइंट्स मिले जो सबसे हाइयोस्ट स्केर है इस सेंगमेंट की कार के लिए ।

बता दे कि इस समय भारत में जो स्विफ्ट आ रही है उसके मुकाबले जापान में मिलने वाली स्विफ्ट में कई अच्छे सेफ्टी फीचर्स मिलते हैं ड्राइवर्स असिस्टेंट जैसा फीचर भी काफी अच्छे ढंग से काम करता है।

swift crsah testing carhamari
swift crash testing

जानकारी के लिए बता दें कि इस बार यूरोपियन न्यू कार असेसमेंट प्रोग्राम (यूरो एनकैप) के क्रैश टेस्ट में नई सुज़ुकी स्विफ्ट को उतारा गया, इनमें एक स्टैंडर्ड सेफ्टी किट वाली स्विफ्ट और दूसरी ऑप्शनल सेफ्टी पैक वाला मॉडल था, दोनों ने 3-स्टार और 4-स्टार सेफ्टी रेटिंग हासिल की।

वैसे क्रैश टेस्ट के नतीजे कार खरीदने के निर्णय पर काफी अहम प्रभाव डालते हैं, बात करें भारतीय कार बाजार की तो यहां पैसेंजर सुरक्षा को लेकर भारत सरकार भी इन दिनों काफी सक्रिय हो गई है, इसी साल अक्टूबर महीने से कारों के लिए नए सेफ्टी नियम लागू होने जा रहे हैं, जिसके परिणाम स्वरूप कंपनियों को विदेशी बाजारों की तरह भारतीय ग्राहकों के लिए भी सुरक्षित कारें बनानी होंगी।

Related Posts

Next Post